चीड़ों पर चाँदनी यात्रा-संस्मरण - निर्मल वर्मा Cheeron Par Chandani - Hindi book by - Nirmal Verma
लोगों की राय

यात्रा वृत्तांत >> चीड़ों पर चाँदनी यात्रा-संस्मरण

चीड़ों पर चाँदनी यात्रा-संस्मरण

निर्मल वर्मा

प्रकाशक : भारतीय ज्ञानपीठ प्रकाशित वर्ष : 2009
पृष्ठ :172
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 10421
आईएसबीएन :9788126316878

Like this Hindi book 0

निर्मल वर्मा के गद्य में कहानी, निबन्ध, यात्रा-वृत्त और डायरी की समस्त विधाएँ अपना अलगाव छोड़कर अपनी चिन्तन-क्षमता और सृजन-प्रक्रिया में समरस हो जाती हैं...

निर्मल वर्मा के गद्य में कहानी, निबन्ध, यात्रा-वृत्त और डायरी की समस्त विधाएँ अपना अलगाव छोड़कर अपनी चिन्तन-क्षमता और सृजन-प्रक्रिया में समरस हो जाती हैं... आधुनिक समाज में गद्य से जो विविध अपेक्षाएँ की जाती हैं, वे यहाँ सब एकबारगी पूरी हो जाती हैं. निर्मल वर्मा के यहाँ संसार का आशय सम्बन्धों की छाया या प्रकाश में ही खुलता है, अन्यथा नहीं.


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book