शताब्दी के ढलते वर्षों में - निर्मल वर्मा Shatabdi Ke Dhalte Varshon Mein - Hindi book by - Nirmal Verma
लोगों की राय

लेख-निबंध >> शताब्दी के ढलते वर्षों में

शताब्दी के ढलते वर्षों में

निर्मल वर्मा

प्रकाशक : भारतीय ज्ञानपीठ प्रकाशित वर्ष : 2006
आईएसबीएन : 8126312866 मुखपृष्ठ : सजिल्द
पृष्ठ :420 पुस्तक क्रमांक : 10408

Like this Hindi book 0

प्रश्नाकुल अनुभव से जन्मे निर्मल वर्मा के ये निबंध पिछले चार दशकों के दौरान लिखे गए निबंधों और लेखों का स्वयं उनके द्वारा किया गया चयन है

प्रश्नाकुल अनुभव से जन्मे निर्मल वर्मा के ये निबंध पिछले चार दशकों के दौरान लिखे गए निबंधों और लेखों का स्वयं उनके द्वारा किया गया चयन है. इनमें स्वयं अपने बारे में और साथ ही सांस्कृतिक अस्मिता के बारे में रचनाकार के आत्ममंथन की प्रक्रिया ने रूपाकार ग्रहण किया है. समाज, संस्कृति और धर्म आदि शुद्ध साहित्यिक प्रश्नों के अलावा कुछ विशिष्ट रचनाकारों पर भी निर्मल वर्मा ने दृष्टि केन्द्रित की है.

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book