Notice: Constant EbookURL already defined in /sahitya/application/config/config.php on line 368

Notice: Constant PaperbookURL already defined in /sahitya/application/config/config.php on line 369

Notice: Constant LbookURL already defined in /sahitya/application/config/config.php on line 371

Notice: Constant EbookURLWC already defined in /sahitya/application/config/config.php on line 373

Notice: Constant PaperbookURLWC already defined in /sahitya/application/config/config.php on line 374

Notice: Constant LbookURLWC already defined in /sahitya/application/config/config.php on line 375

Notice: Constant XML_PATH already defined in /sahitya/application/config/app_config.php on line 30

Notice: Undefined variable: b_type in /sahitya/application/config/config.php on line 381

Notice: Undefined variable: b_type in /sahitya/application/config/config.php on line 383

Notice: Undefined variable: b_type in /sahitya/application/config/config.php on line 385

Notice: Undefined variable: cssUrl in /sahitya/application/config/config.php on line 388

Notice: Undefined variable: cssUrl in /sahitya/application/config/config.php on line 389

Notice: Undefined variable: cssUrl in /sahitya/application/config/config.php on line 390

Notice: Undefined variable: cssUrl in /sahitya/application/config/config.php on line 391

Notice: Undefined variable: cssUrl in /sahitya/application/config/config.php on line 392

Notice: Undefined variable: cssUrl in /sahitya/application/config/config.php on line 393

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined variable: b_type

Filename: config/config.php

Line Number: 381

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined variable: b_type

Filename: config/config.php

Line Number: 383

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined variable: b_type

Filename: config/config.php

Line Number: 385

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined variable: cssUrl

Filename: config/config.php

Line Number: 388

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined variable: cssUrl

Filename: config/config.php

Line Number: 389

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined variable: cssUrl

Filename: config/config.php

Line Number: 390

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Constant JCCDN already defined

Filename: config/config.php

Line Number: 390

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined variable: cssUrl

Filename: config/config.php

Line Number: 391

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Constant CDN1 already defined

Filename: config/config.php

Line Number: 391

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined variable: cssUrl

Filename: config/config.php

Line Number: 392

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Constant CDN2 already defined

Filename: config/config.php

Line Number: 392

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined variable: cssUrl

Filename: config/config.php

Line Number: 393

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Constant CDN3 already defined

Filename: config/config.php

Line Number: 393

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Constant PAYPAL_USE_SANDBOX already defined

Filename: config/config.php

Line Number: 395

 Harivansh Rai Bachchan/हरिवंशराय बच्चन
लोगों की राय

लेखक:

हरिवंशराय बच्चन
हरिवंशराय बच्चन का जन्म 27 नवंबर, 1907 को प्रयाग में हुआ था। उनकी शिक्षा म्युनिसिपल स्कूल, कायस्थ पाठशाला, गवर्नमेंट कालेज, इलाहाबाद यूनिवर्सिटी और काशी विश्वविद्यालय में हुई। 1941 से 1952 तक वह इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में अंग्रेज़ी के लेक्चरर रहे। 1952 से 1954 तक इंग्लैण्ड में रहकर उन्होंने केम्ब्रिज यूनिवर्सिटी से पी-एच.डी. की डिग्री प्राप्त की। विदेश से लौटकर उन्होंने एक वर्ष अपने पूर्व पद पर तथा कुछ मास आकाशवाणी, इलाहाबाद में काम किया। फिर सोलह वर्ष दिल्ली रहे—दस वर्ष विदेश मंत्रालय में हिन्दी विशेषज्ञ के पद पर और छह वर्ष राज्यसभा के मनोनीत सदस्य के रूप में। 18 जनवरी, 2003 को उनका स्वर्गवास हो गया।

बच्चन जी को उनकी आत्मकथा के लिए भारतीय साहित्य के सर्वोच्च पुरस्कार ‘सरस्वती सम्मान-1991’ से सम्मानित किया गया। इसके अतिरिक्त उन्हें साहित्य अकादमी पुरस्कार, सोवियत लैंड नेहरू पुरस्कार तथा एफ्रो-एशियन राइटर्स कान्फ्रेंस का लोटस पुरस्कार भी मिल चुका है। राष्ट्रपति ने भी उन्हें ‘पद्मभूषण’ से अलंकृत किया। हिन्दी साहित्य सम्मेलन ने उन्हें ‘साहित्य वाचस्पति’ की उपाधि प्रदान की।

कृतियाँ :

कविताएं : मधुशाला, मधुबाला, मधुकलश, निशा निमंत्रण, आकुल अंतर, बंगाल का काल, शादी के फूल, धार के इधर-उधर, त्रिभंगिमा, बहुत दिन बीते, जाल समेटा, मेरी श्रेष्ठ कविताएँ।

आत्मकथा : क्या भूलूं क्या याद करूं (खण्ड-1)
‘‘यह कथा बड़ी सरस और जीवंत बनी है। इसमें केवल बच्चन जी का परिवार और व्यक्तित्व ही नहीं उभरा है बल्कि उनके साथ समूचा काल और क्षेत्र भी अत्यंत जीवंत रूप में उभरकर सामने आ गए हैं।’’

नीड़ का निर्माण फिर (खण्ड-2)
...इस खण्ड की कथा में भी उपन्यास की-सी रोचकता है। भाषा में वही शैली का जादू है। इसमें जीवनीकार का अपारदर्शी सशक्त व्यक्तित्व अधिक गहरे रंगों में उभरा है।

बसेरे से दूर (खण्ड-3)
इंग्लैण्ड जाकर वहां अंग्रेज़ी साहित्य में डाक्टरेट प्राप्त करने की अवधि के अनोखे अनुभवों और संघर्षों का प्रेरणापूर्ण लेखा-जोखा। बच्चन जी के ‘बसेरे से दूर’ में संधर्ष के एक दौर की समाप्ति की झलक मिली, उनके ज्वलंत जीवन की ज्योति रेखा-सी।

‘दशद्वार’ से ‘सोपान’ तक (खण्ड-4)
आत्मकथा का चौथा समापन भाग; जब बच्चन जी भारत सरकार में हिन्दी सलाहकार बने, राज्यसभा के सदस्य मनोनीत हुए और उन्हें नेहरू जी तथा देश के अन्य महान पुरुषों को निकट से देखने-सुनने और गुनने के अपूर्व अनुभव प्राप्त हुए। उस काल के साहित्यिक , सामाजिक और राजनैतिक परिदृश्य का सजीव चित्रण उपस्थित करते हैं।

अन्य : किंग लियर (हिन्दी अनुवाद), खैयाम की मधुशाला (अनुवाद)।

क्या भूलूँ क्या याद करूँ

हरिवंशराय बच्चन

मूल्य: $ 17.95

प्रख्यात हिन्दी कवि हरिवंशराय बच्चन की आत्मकथा का पहला खंड, ‘क्या भूलूँ क्या याद करूँ’। इस आत्मकथा के माध्यम से कवि ने गद्य-लेखक में भी नये मानदंड स्थापित किये।

  आगे...

खैयाम की मधुशाला

हरिवंशराय बच्चन

मूल्य: $ 10.95

खैयाम की मधुशाला पर महाकवि बच्चन के विचार   आगे...

जाल समेटा

हरिवंशराय बच्चन

मूल्य: $ 10.95

जाल-समेटा करने में भी, वक़्त लगा करता है माँझी, मोह मछलियों का अब छोड़।...   आगे...

दशद्वार से सोपान तक

हरिवंशराय बच्चन

मूल्य: $ 24.95

प्रस्तुत है एक सशक्त महागाथा जो उनके जीवन और कविता की अन्तर्धारा का वृत्तान्त ही नही करती बल्कि छायावादी युग के बाद के साहित्यिक परिदृश्य का विवेचन भी प्रस्तुत करती है...   आगे...

दो चट्टानें

हरिवंशराय बच्चन

मूल्य: $ 17.95

तब तलक जब तलक आसन पर न हो जाता सुरक्षित...   आगे...

निशा निमंत्रण

हरिवंशराय बच्चन

मूल्य: $ 11.95

बच्चन की श्रेष्ठ कविताओं का संग्रह....   आगे...

नीड़ का निर्माण फिर

हरिवंशराय बच्चन

मूल्य: $ 19.95

प्रख्यात लोकप्रिय कवि हरिवंशराय बच्चन की बहुप्रशंसित आत्मकथा का दूसरा खंड ‘नीड़ का निर्माण फिर’।   आगे...

बच्चन रचनावली भाग-1-11

हरिवंशराय बच्चन

मूल्य: $ 100

  आगे...

बसेरे से दूर

हरिवंशराय बच्चन

मूल्य: $ 17.95

आत्म-चित्रण का तीसरा खंड, ‘बसेरे से दूर’। बच्चन की यह कृति आत्मकथा साहित्य की चरम परिणति है और इसकी गणना कालजयी रचनाओं में की जाती है।   आगे...

मधुकलश

हरिवंशराय बच्चन

मूल्य: $ 10.95

इन कविताओं की रचना कवि के यौवनकाल काल में हुई। यह संग्रह यौवन रस और ज्वार से भरपूर हैं...   आगे...

 

 1 2 >   View All >>   16 पुस्तकें हैं|