List of Essays in Hindi at Pustak.org - पुस्तक.आर्ग में निबंधों का संकलन
लोगों की राय

लेख

साहित्य का आत्म-सत्य

निर्मल वर्मा

मूल्य: Rs. 200

निर्मलजी के निबन्धों के चिन्तन के केंद्र में मात्र साहित्य ही नहीं है बल्कि, उसमें उत्तर-औपनिवेशिक भारतीय समाज, उसका नैतिक-सांस्कृतिक विघटन और मनुष्य का आध्यात्मिक मूल स्वरूप, भारतीय संस्कृति का बहुकेन्द्रित सत्य आदि महत्त्वपूर्ण सवाल समाहित हैं   आगे...

आदि, अन्त और आरम्भ

निर्मल वर्मा

मूल्य: Rs. 230

जब मनुष्य अपना घर छोड़े बिना निर्वासित हो जाता है, अपने ही घर में शरणार्थी की तरह रहने के लिए अभिशप्त हो जाते है.   आगे...

प्रसंगत:

अमृता भारती

मूल्य: Rs. 125

प्रसंगतः' में संगृहित सामग्री के विषय ऐसे तो हैं ही जिनसे अमृता भारती वर्षों से निरन्तर उलझती रही हैं. साथ ही ऐसे विषय-सन्दर्भ भी हैं…   आगे...

मराल

कुबेरनाथ राय

मूल्य: Rs. 65

नीलकण्ठ की नगरी वाराणसी और प्राग्-भारती का प्रभामय प्रांगण कामरूप--दोनों श्री कुबेरनाथ राय की सारस्वत आराधना के केन्द्र रहे हैं.   आगे...

रामायण महाभारत (काल, इतिहास, सिद्धान्त)

वासुदेव पोद्धार

मूल्य: Rs. 225

पाश्चात्य मनीषी और कतिपय भारतीय आलोचक महाभारत को रामायण से पहले की रचना मानते आ रहे हैं   आगे...

अनहद

कैलाश वाजपेयी

मूल्य: Rs. 180

अपने देश में वैदिक युग से लेकर अब तक जो कुछ रचा गया है, उस ज्ञानराशी का क्षेत्र भी कुछ कम नहीं. अतुलनीय है वह ---   आगे...

शताब्दी के ढलते वर्षों में

निर्मल वर्मा

मूल्य: Rs. 315

प्रश्नाकुल अनुभव से जन्मे निर्मल वर्मा के ये निबंध पिछले चार दशकों के दौरान लिखे गए निबंधों और लेखों का स्वयं उनके द्वारा किया गया चयन है   आगे...

शब्द और स्मृति

निर्मल वर्मा

मूल्य: Rs. 100

रोमन खंडहरों या पुराने मुस्लिम मकबरों के बीच घूमते हुए एक अजीब गहरी उदासी घिर आती है   आगे...

ढलान से उतरते हुए

निर्मल वर्मा

मूल्य: Rs. 165

निर्मल वर्मा के निबन्धों की सार्थकता इस बात में है कि वे सत्य को पाने की सम्भावनाओं के नष्ट होने के कारणों का विश्लेषण करते हुए उन्हें पुनः मूर्त करने के लिए हमें प्रेरित करते हैं.   आगे...

रचनात्मक लेखन

रमेश गौतम

मूल्य: Rs. 130

रचनात्मक लेखन समझने के लिए उपयोगी पुस्तक   आगे...

 

 1 2 3 >  Last ›  View All >> इस संग्रह में कुल 219 पुस्तकें हैं|